1.9 C
London
Saturday, February 24, 2024

बिहार की ‘हंटर वाली ने ‘ IPS पर जूनियर का आरोप किया ,और गालियां ‘रोज देती हैं , नोटिस भी आ गया

- Advertisement -
- Advertisement -

बिहार में दो IPS अधिकारियों की आपसी तकरार सामने आ गई है. बिहार होमगार्ड और अग्निशमन सेवा में IG के पद पर तैनात IPS अधिकारी विकास वैभव ने विभाग की महानिदेशक (DG) शोभा आहोतकर पर ‘गाली-गलौज’ करने का आरोप भी लगाया था. उन्होंने विभाग के लिए तमाम कार्य भी करते है और उनसे अभद्र भाषा में बात की जाती है. अब खबर है कि DG शोभा आहोतकर ने विकास वैभव के खिलाफ कारण बताओ नोटिस भी जारी कर दिया है.

आरोप लगाकर ट्वीट हटाया

IPS विकास वैभव का ये आरोप गुरुवार, 9 फरवरी को ट्वीट की शक्ल में आया. इसमें उन्होंने लिखा था,

“मुझे IG, होमगार्ड और फायर सर्विसेज का दायित्व 18 अक्टूबर, 2022 को दिया गया था. तब से ही सभी नए दायित्वों के निर्वहन के लिए हर संभव प्रयास कर रहा हूं. तब से हर दिन अनावश्यक ही डीजी मैडम के मुख से गालियां ही सुन रहा हूं (इसकी रिकॉर्डिंग भी है). लेकिन यात्री आज भी वास्तव में द्रवित है.”

बिहार हालांकि ये आरोप लगाने के बाद विकास ने ट्वीट डिलीट भी कर दिया. लेकिन इसने सीनियर और जूनियर अफसरों के आपसी कलेश को सामने लाने का काम कर दिया. विकास के ट्वीट के बाद मामला तूल पकड़ता दिख रहा है. आजतक से जुड़े रोहित कुमार सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक डीजी शोभा आहोतकर ने अपने जूनियर को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है. उनसे पूछा है कि उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए राज्य सरकार में उनकी सेवा को क्यों ना समाप्त कर दिया जाए.

रिपोर्ट के मुताबिक विकास वैभव ने दो महीने के लिए छुट्टी पर जाने का आवेदन दिया था. लेकिन डीजी शोभा आहोतकर ने उसे रिजेक्ट कर दिया है. बता दें कि विकास वैभव साल 2003 बैच के IPS अधिकारी हैं. सिविल सेवा में शामिल होने से पहले वो कानपुर IIT में पढ़ रहे थे. वहीं शोभा आहोतकर 1990 बैच की IPS हैं. रिपोर्टों के मुताबिक वो बेहद सख्त मिजाज की अधिकारी बताई जाती हैं जिन्हें बिहार में ‘हंटर वाली’ के नाम से भी जाना जाता है.

बिहार में , कुछ दिन पहले बिहार के एक सीनियर आईएएस अधिकारी केके पाठक का गाली-गलौज वाला वीडियो वायरल हुआ था. और पाठक राज्य के एक विभाग के कर्मचारियों के साथ कॉन्फ्रेंस हाल में बैठक कर रहे थे. वो किसी बात को लेकर काफी गुस्से में थे. उन्होंने अपने जूनियर अधिकारी और बिहार के लोगों तक को नहीं बख्शा और अभद्र भाषा में बात की. और इन लोगों को गाली सुनने के बाद ही अक्ल आती है. बाद में बिहार के एक्साइज मंत्री सुनील कुमार ने मीडिया से कहा कि उन्होंने वीडियो को देखा है. उनके खिलाफ जो भी जरूरी कार्रवाई होगी वो की जाएगी.

resource : https://bit.ly/3lp1xDl

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here