6.5 C
London
Tuesday, March 5, 2024

Facebook : लाइव पर जान देने जा रहे यूपी के युवक को बचाने अमेरिका से यूपी पुलिस को भेजा गया

- Advertisement -
- Advertisement -

Facebook : सोशल मीडिया के भतेरे नुकसान होता हैं. टाइम भी वेस्ट होता है, और , मानसिक स्वास्थ्य पर असर भी पड़ता है. और भी कई चीजें होती हैं. जो हमें इससे दूर नहीं होने देती है . जब लोग मिलकर किसी जरूरतमंद की मदद भी करते हैं. गलत के खिलाफ आवाज भी उठाते हैं और सही का साथ भी देते हैं. ताजा मामला गाजियाबादमें होता है जहां सोशल मीडिया के जरिए एक युवक की जान बचाई गई है .

Facebook : अभय शुक्ला नाम का शख्स 31 जनवरी को एक फेसबुक लाइव भी होता है . उसी लाइव में उसने बताया कि वो अपनी जान देने वाला होता है. लेकिन उसी लाइव की बदौलत पुलिस ने उसकी जान भी बच जाती है

Facebook : आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, मामला जिले के विजयनगर थाना इलाके में होता है. मंगलवार रात अभय ने अचानक फेसबुक पर लाइव करना शुरू भी किया. उसने बताया कि वो अपनी जान भी देने जा रहा है और इसकी तैयारी भी कर चुका है. ये सब फेसबुक पर लाइव भी दिख रहा था. दूसरी तरफ अमेरिका के कैलिफोर्निया में मेटा (फेसबुक की पैरेंट कंपनी) के हेडक्वार्टर में इसकी भनक लगी तो वहां हलचल भी मचा रहे है . वहां से तुरंत युवक की लोकेशन पता की गई जो कि यूपी के होते है . कंपनी के प्रतिनिधि ने यूपी पुलिस को फौरन अलर्ट भी भेजा.

पुलिस सीधे ही घर पहुंच गई

Facebook : लखनऊ में मौजूद यूपी के डीजीपी ऑफिस को अलर्ट वाला ईमेल भी मिला. यूपी पुलिस ने अभय की लोकेशन ट्रेस की और पता चला कि वो गाजियाबाद के विजयनगर इलाके से लाइव भी होते है. इस बात की सूचना डीजीपी ऑफिस ने विजयनगर थाना पुलिस को देते है . पुलिस लोकेशन पर तो पहुंच गई थी लेकिन 20 मीटर के दायरे में युवक का मकान नहीं मिलता है .

Facebook : अभय को रोके रखने के लिए विजय नगर थाने की एसएचओ ने उसके नंबर पर कॉल करते है . 7 बार फोन काटने के बाद 8वीं बार अभय ने कॉल रिसीव किया. पुलिस का मकसद होता है उसे बातों में उलझाए रखना. इस दौरान एक्जेक्ट लोकेशन भी मिल जाती है .

बार बार बची जान

पुलिस अभय के कमरे में पहुंची और देखा कि अभय जान अपनी जान देता है . उसे तुरंत हिरासत में लिया गया. अभय को इस बात का अंदाजा भी नहीं था कि दरवाजे पर पुलिस भी है. अगर पुलिस कुछ और मिनट की देर से पहुंचती तो अभय भी नहीं बच पाता.

एसीपी विजय नगर अंशु जैन ने मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि केवल 90 हजार रुपये के नुकसान के लिए अभय अपनी जिंदगी को खत्म करने जा रहा था.

Facebook : वो मूल रूप से उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले का रहने वाला है. अभी विजयनगर के सेक्टर 12 में रहता है. और कुछ समय तक नौकरी करने के बाद उसने मोबाइल का बिजनेस भी शुरू किया जिसमें उसे 90 हजार रुपये का नुकसान हो गया और इसी बात से परेशान होकर वो सुसाइड भी करने जा रहा था.

खबर आती है कि पुलिस ने करीब 6 घंटे तक अभय शुक्ला की काउंसलिंग भी कराई. युवक को अपनी गलती का अहसास भी हो गया.

Resource : https://bit.ly/3RtPn7T

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here